Saturday, September 4, 2010

यह तेरा घर.... यह मेरा घर.....


अपना घर भला किसे नहीं पसंद. एक झोपडवासी हो, चाहे अमिताभ बच्चन जैसा सुपर स्टार या फिर सोनिया गांधी का 10 जनपथ स्थित बंगला. अपना घर कोइ नहीं छोडना चाहते. वैसे यह सारी बात करने के लिए मुझे मौका दिया है अमिताभ बच्चन ने. उनके घर के करीब से मैट्रो ट्रेन जा रही है. अमिताभ के जिस घर के करीब से मेट्रो ट्रेन जा रही है उस घर मे अमिताभ रहते नहीं. लेकिन फिर भी अमिताभ को नाराजगी इस बात की है कि कहीं उनके बंगले की दिवार को किसी भी इन्सान की नजर न लांध पाए... हैना गझब....
वैसे लता मंगेशकर ने भी धमकी दी है कि पैडर रोड पर फ्लाइ ओवर बना तो वे मुंबई छोड पूना चली जाएंगी... क्योंकि यह फ्लायओवर उनके घर के करीब से गुजर रहा है.
अब सवाल यह है कि फ्लाइओवर और मैट्रो ट्रेन बने तो कहां बने? झोपडवासी कहता है मुझे मत हटाओ लेकिन जब झोपडवासी यह कहता है तो कोइ नहीं सुनता उलट यह आदेश जारी होता है कि -- हटाओ इन गैर कानूनी ढंग से रहनेवालो को. लेकिन झोपडवासी हो या लता मंगेशकर या फिर अमिताभबच्चन. किसीको अपने घोसले मे खलल पसंद नहीं. सबकी नजरो मे उनका घर स्वर्ग है.
नेता भी अपना सरकारी बंगला तबतक खाली नहीं करते जबतक पुलिस सरकार ने निर्देश पर कारवाई शुरु न करे. एसे मे इस सवाल का जवाब ढूंढना वाकई मुश्किल है कि लोगो के घरो को बचाते हुए सरकारी योजनाए कैसे लागु हो. सरकार और प्रशासन इसी सवाल का जवाब नहीं ढूंढ पाती जिसके चलते सारे प्रोजेक्ट डीले होते है, खामियाजा सभी को भुगतना पडता है.

No comments:

આતંકવાદ ને નાથવા પર્યટન નું ઓસડ

કાશ્મીર માં આતંકવાદ ને ડામવા સરકારે પર્યટન નો સહારો લીધો છે.   છેલ્લા લાંબા સમયથી અખબાર અને મીડિયામાં કાશ્મીર માં ફેલાયેલી અરાજકતા તેમજ ...